SLAM Full form

SLAM क्या है SLAM Meaning & SLAM का Full Form हिंदी में

SLAM क्या है SLAM Meaning का मतलब क्या होता है Slam का Full Form क्या होता है Slam नेविगेशन में उपयोग होने वाला एक Mapping Virtual Reality ओडोमेट्री सिस्टम और तकनीकी है जो हमें GPS से अच्छी और Perfect Mapping और Navigation प्रदान करती हैं

SLAM क्या है :

SLAM Kya hai

यह एक GPS की नई तकनीकी है जो Navigation और Mapping को और आसान बना देती हैं यह तकनीकी GPS से कहीं ज्यादा अच्छी Navigate और Mapping को कंट्रोल करती है यह GPS के मुकाबले काफी ज्यादा अच्छी Accuracy प्रदान करती है यह नई तकनीकी के आधार पर उपयोग होने वाली नई Virtual Reality Robots में and Car Driving की मैपिंग कम्युनिकेशन का मानचित्र बनाने के लिए उपयोग की जाने वाली तकनीकी है यह अपने आसपास के Environment के हिसाब से अपना एक 3D ग्राफिक तैयार करता है और जीपीएस से कहीं ज्यादा अच्छा काम करता है

यह अपने Start Position से End Position तक का पूरा डाटा Store रखता है और इसी के सहारे मैपिंग करता है और उसे डिजिटलाइज कंट्रोल करता है जैसे कोई रोबोट अगर अंधेरे में काम कर रहा है तो उसे कैसे पता होता है कि आगे दीवार है या कोई सामान रखा हुआ है क्योंकि वह पहले से ही अपने अंदर Digital Map Data तैयार करके स्टोर रखता है और उसी के हिसाब से काम करता है जिससे उसे अपनी करंट पोजीशन का अंदाजा लग सकता है और वह या समझ सकता है कि किस तरफ दीवार है किस तरफ सामान है किस तरफ फर्नीचर है इत्यादि

Full Form of SLAM :

SLAM का Full FormSimultaneous Localization and Mapping ” है जिसका शाब्दिक हिंदी अर्थ है ” एक साथ स्थानीकरण और मानचित्रण “

SLAM का आविष्कार :

वर्ष 1976 ABA Slam Dunk Contest में ” Julius Erving “ ने अपनी करंट पोजीशन से हटकर फिर उसी अवस्था में आने के लिए उन्होंने SLAM Technology का उपयोग किया और यह सफल हुई तब से इन्ही को लाने का और अविष्कार करने का श्रेय दिया जाता है

How to Work SLAM :

Simultaneous Localization and Mapping Digital Mapping के आधार पर काम करता है यह अपने आसपास के सभी Environment को Digital 3D Mapping के रूप में तैयार करके Store रखता है जिससे उसकी Current Position और चारों तरफ के सभी Environment का Location और Map तैयार कर सके और उसे के आधार पर काम कर सकें यह काफी ज्यादा Accurate Data प्रदान करता है जो GPS के मुकाबले कहीं ज्यादा और कहीं बेहतर हैं क्योंकि GPS हमें 100% Accurate Data प्रदान नहीं करता है उसमें कुछ कमी रह जाती है तो इसके लिए SLAM एक नई तकनीकी है जो लगभग सभी जगह उपयोग में लाई जा रही है और यहां आने वाले समय में हमें देखने को मिलेगा

Uses of SLAM :

इसका उपयोग निम्नलिखित है

Mapping :

यह Digital Mapping तैयार करने में बहुत ही महत्वपूर्ण योगदान देता है जिससे हमें सही Current Position और Accurate Data डाटा प्राप्त हो सके आने वाले समय में हम Digital 3D Map तैयार करके उसको सही कंसीडर और कमर्शियल सभी तरीके के Use कर सकते हैं

Self Driving Car :

Self Driving Car में SLAM का उपयोग बहुत अधिक देखने को मिलता है क्योंकि यह Sensor के आधार पर सभी आसपास की चीजों को Scan करके डिजिटल 3D मैप तैयार करता है और वह आसानी से रोड पर चल सकता है ताकि उसे किसी भी दुर्घटना वाली चीजों का सामना ना करना पड़े इसीलिए वह अपने Digital Map Data को Store करके रख लेता है और उसी के आधार पर काम करता है और अगर कहीं Sensor का टकराव किसी चीज से होता है तो उसे पता चल जाता है कि आगे कोई चीज पड़ी हुई है जो नुकसान कर सकती हैं

Robots :

Robots में भी SLAM का उपयोग बहुत देखने को मिलेगा क्योंकि यह रोबोटिक मैपिंग का एक हिस्सा है जो GPS से कई गुना ज्यादा बेहतर काम करता है जिससे Robots को आसानी से अपने करंट पोजीशन और इन पोजीशन और आसपास के सभी इन्वायरमेंट का सही पता चल सकता है और वह आसानी से काम कर सकते हैं Robotic Industry में आने वाले समय में बहुत ही बड़ा योगदान देने वाला है

Tracking :

Tracking में भी इसका योगदान महत्वपूर्ण होगा क्योंकि यह GPS से कई गुना ज्यादा बेहतर अच्छा काम करता है और यह मिलीसेकंड और सेकंड को अच्छी तरीके से कैलकुलेट कर सकता है जो GPS नहीं कर सकता है इसीलिए इसका महत्व और भी ज्यादा बढ़ जाता है

Location :

Location की मैपिंग में भी इसका उपयोग GPS से सही डांटा कंसीडर करता है जिससे लोकेशन को आसानी से ट्रैक किया जा सकता है जैसे – GPS कहीं भी कठोर अथवा दीवार और घर के आसपास काम नहीं कर सकते उसी तरीके से SLAM हर जगह काम कर सकता है GPS अंडर वाटर में काम नहीं कर सकता है लेकिन SLAM वहा भी अच्छी तरीके से काम करती हैं

Monocular SLAM क्या है :

Monocular यह LSD-SLAM Technology पर काम करता है जो सीधे आप की पोजीशन को ट्रैक करके सीधे उसका डिजिटल मैप तैयार करता है और यह प्रक्रिया बहुत ही तीव्र काम करती है जिससे LSD-SLAM का CPU कोर बहुत अधिक समय तक रन कर सकता है और यह आधुनिक स्मार्टफोन में भी देखने को मिल जाता है और आने वाले समय में लगभग सभी डिवाइस में उपयोग किया जाने वाला है क्योंकि यह बहुत ही अच्छी तकनीकी है जो GPS की तरह ही बहुत अच्छी डाटा प्रदान करती हैं

Loop Closure Slam क्या है :

यह एक मार्गदर्शिका के आधार और स्थान की पहचान करता है जिससे एक साथ स्थानीयकरन मानचित्रण Digital रूप तरीके से तैयार किया जा सके यह तकनीक ज्यादातर रोबोट्स में अपनाई जाती है क्योंकि वह अपने पर्यावरण और आसपास के मानचित्र का Digital Data तैयार कर लेते हैं और मानचित्र के भीतर वह कहां है और वह कहां पर गए थे उसका आकलन वह बहुत ही अच्छी तरीके से करते हैं और यह पता लगा लेते हैं कि हम किस जगह स्थित हैं और वहां से दूरी कितनी हैं और आगे जाने में कितनी दूरी तय करनी पड़ेगी यह पूरा Process Loop Closure तकनीक पर आधारित होता है

LiDAR SLAM :

SLAM (एक साथ स्थानीयकरण और मानचित्रण) सटीक मानचित्रण को सक्षम करता है जहां GPS स्थानीकरण अनुपलब्ध है, जैसे इनडोर स्थान। SLAM एल्गोरिदम LiDAR और IMU डेटा का उपयोग एक साथ सेंसर का पता लगाने और अपने परिवेश के सुसंगत मानचित्र को उत्पन्न करने के लिए करता हैं। यह GPS से कई गुना ज्यादा अच्छा काम करता है GPS की कुछ सीमाएं हैं लेकिन इसकी कोई सीमा नहीं होती हैं या सभी जगह पर बहुत ही अच्छी तरीके से काम करता है

Virtual SLAM क्या है :

Virtual SLAM अलग प्रकार का SLAM सिस्टम है जो स्थान और मैपिंग फंक्शन का 3D विजन का तैयार करता है जब न तो पर्यावरण और न ही सेंसर का स्थान ज्ञात होता है। Virtual SLAM तब तकनीक अलग-अलग रूपों में आती है, लेकिन सभी Visual SLAM सिस्टम में एक ही तरह से कार्य करती है जिससे 3D मैपिंग तैयार की जा सके और आसानी से उसका ग्राफ और मैप स्टोर करके रख सकें

SLAM vs GPS में अंतर :

दोनों में निम्नलिखित अंतर है

SLAM – यह डिजिटलाइज मैपिंग डाटा को तैयार करता है और उसी के आधार पर कार्य करता है यह अपने आसपास के चारों तरफ का 3D डाटा मैप स्टोर करके रखता है और उसे अपने Sensors से Scan करके सहयोग और सही डाटा प्रदान करता है जिससे इसके चारों तरफ एनवायरमेंट का पता आसानी से लगा सकती हैं यह Indoor System Technology पर भी आधारित है क्योंकि इसे सभी जगह से एक्सेस किया जा सकता है और Indoor Facility का भी पूरा मैप तैयार किया जा सकता है जिससे इसे डाटा कैलकुलेट करने में कोई परेशानी का सामना ना करना पड़े |

GPS – एक Global Positioning System सिस्टम पर आधारित होता है जो सेटेलाइट्स के द्वारा हमारे Signal को Receive करके हमें सही डाटा रिसीवर तक पहुंचाता है यह 100% सही डाटा अपडेट कर सकता है लेकिन कुछ प्रतिशत डाटा को या कैलकुलेटर आसानी से नहीं कर सकता जैसे अगर हम Swimming Pull में है तो वह डाटा कैलकुलेट नहीं कर सकता अगर हम किसी दीवार या फिर बड़े पत्थर के बीच में कहीं है तो या उसका अनुमान नहीं लगा सकता जब तक रिसीवर सिग्नल स्पीड अच्छी तरीके से Work ना कर रही हो |

Conclusion :

मुझे आशा है कि SLAM क्या है SLAM Meaning & SLAM का Full Form जैसे तमाम जानकारियां आपको हमने इस आर्टिकल में बताया है अगर SLAM से संबंधित आपका कोई सवाल हो तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अगर यह आर्टिकल आपको अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें

धन्यवाद

!! जानकारी अच्छी लगे तो शेयर जरूर करना !! Dear

0Shares

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!